Shayari | ( हिंदी शायरी 2021 ) Love Hindi Shayari 12,700

Spread the love

—————-

माफ़ी तुझे प्यार करने के लिए

माफ़ी तेरे करीब आने के लिए


मोहब्बत हो चाहे नफरत

सिद्दत से करनी चाहिए


जिसके नजर में तुम बहुत खराब हो

उसकी नजर में तुम कामयाब हो


यह मानते है की हम बड़े बदनसीब हैं

फिर भी ख़ुशी है की उनके हम करीब हैं


मै तो खैर मांगता हु तेरी

दुआ ना कोई और मांगता

Shayari | Love Hindi Shayari 

इंतजार  घड़ी बेकरारी होती है

समय से न मिलने पर दिल घबराती है

————————————-

अगर दिल घबराए तो मेरा नाम ले लेना

अगर मैं न आऊं तो मेरी तस्वीर चुम लेना

————————————-

नाम लेने और तस्वीर चूमने से दिल नहीं भरता है

जब तक तुम से मिलने होता है दिल में चैन न आता है

————————————-

दिल मेरा बेचैन है चाहत तेरी

तेरी ही यादों में अब  जान जा रही है मेरी

————————————-

धीरज धरो मेरे यार हो न बेचैन

मैं आ रहा हूं शीघ्र ही तुमसे मिलाने नयन

————————————-

आओ मेरे यार मिला लो नयन

मेरे दिल को भी आ जाएगा पूरा चैन

————————————-

दिल मेरी बेचैन है तेरी इंतजार में

मैं घायल होकर भी जी रही हूं तेरी प्यार में

————————————-

थोड़ा और इन्तजार करो मैं मिलूंगा जरूर

धीरज धरो मेरी जान मैं थोड़ा हूं मजबूर

————————————-

मजबूरी तेरी कुछ नहीं मैं सब – कुछ समझती हूं

तू मुझे न चाहते हो लेकिन मैं तुमसे प्यार करती हूँ

————————————-

आज तेरे हुस्न का मुझपे हुआ है असर

मैं कहां हूं ये मुझको आज नहीं है खबर

————————————-

मैं तुझसे प्यार करूं तू मुझसे प्यार कर

मेरी जिन्दगी को तू भी आबाद कर

————————————-

मैं तेरे प्यार का दीवान , तू मेरे प्यार की दीवानी

आ हम दोनों की खूब जमेगी आज जवानी

————————————-

कोई  खिल के मुरझाता है , तो कोई प्यार पे जान लुटाता है

मैं वो तेरा आशिक हूं , जो दिल पे प्यार लाता हूँ

————————————-

तेरी उम्र है सोलह साल , मैं लड़का हूं बिस साल का

तुझे देखते ही मेरी उम्र हो गई चौबीस साल का

तेरी मस्त नजर जो मुझको घायल करती है सदा

 तेरी अठारह की उम्र जो मुझको तड़पाती है सदा

तेरी , यौवन क्या चाल दिखलाती है

कितने आशिक को घायल बनाती है

आज रख दूंगा मैं तेरे सामने ये सारे संसार

तुम अपने दिल में रख लेना मेरा भी प्यार

दिल रात मेरे सामने तुम  रहो  मैं तुम्हें  हरदम देखता रहूं

खुदा भी तुम्हें क्या चीज़ बनाई जो प्यार तुझपे हरदम लुटाता रहूं

प्यासे को पानी पिलाओ तो कोई बात बनेगी

तेरे जैसी हसीना हजार बनेगी

मैं हूं दीवानी तेरे प्यार का , मैं हूं मस्ताना तेरे दीदार का

कुछ भी कहो तुम हसीन मेरा दिल है आज इकरार का

जो गम दे उसी का मैं दीदार करता हूं

मैं उन्हीं को उन्हीं से प्यार करता हूं

जो फूल खिल जाए वह फूल मुरझाना नहीं चाहिए

जो आशिक  दिलवर मिल जाए व दिलवर का प्यार रूठना नहीं चाहिए

रात को मैंने दो दो चांद देखा

एक हुस्न को देखा  और एक इश्क़ को देखा

सामने चमन हो तो फूल खिल नहीं सकता

अगर दिलवर को प्यार रूठा हो तो उसका प्यार हो नहीं हो नहीं सकता

कोई क्या करे इंसान जो उस इंसान को प्यार नहीं मिलता

कोई क्या करे भगवान जो उस भगवान को कोई पूरा नहीं करता

मर के भी देख जीकर भी देख

तेरे प्यार में हसीनों  जहर का घूंट पीकर भी देखा

न तुम आज हंसी न आज मैं हंसु

सारी दुनियां  दोनों को सदा चाहती रहे

मेरा दिल तेरे दिल से धरकता क्या है

ये और दिल को ऐसे तड़पता क्या है

सुबह शाम जब देखो तेरा नाम लेता हूं

खुद को खुद से अपना दिल का पैगाम देता हूं

जब  आहत होती है , तब ऐसा लगता है की  तुम आती हो

मेरे दिल को चुराकर  मुझको अपनी से ले जाती हो

जो दिल को छू जाए वही साज होती है

जो दिल पे प्यार लाए वही आशिक होती है

जो दिल को चुराकर बैठे  वह दिलदार नहीं होती

जो दिल पे तीर चलाए वह यार नहीं होती

सुबह शाम जब देखो तुम्हीं तुम नजर आती हो

मेरा दिल धड़क जाता है जैसे की तुम झूम जाती हो

जब सामने चमन हो तो बहार आ नहीं सकती

जब दिल से दिल मिले नहीं तो प्यार हो नहीं सकता

साथ – साथ तुम चलो साथ – साथ आज हम चले

आज हम दोनों के दिल में प्यार उमड़ता चले

तेरी याद का चिराग आज जलाएंगे हम

अगर आज तुम नहीं आई तो खुद मिट जाएंगे हम

तू फूलो कि रानी मैं फूल चूसने वाला तेरा भंवरा

जन हम दोनों का हुआ तो गिर गई आज सारी दुनियां

जब दिलवर शरमा जाए तो प्यार होता है

जब आशिक मुस्काए तो दिलवर खुस हो जाता है

मैं गली – गली घूमता हूं तेरे प्यार का गीत सुनाता हूं

तुम हो मेरी हसीना मैं दिल तुम पे आज लुटाता हूं

पढ़ना है तो पढ़ो नीरज की महबूबा की शायरी

पढ़कर तुम खुद जवाब दो ये नीरज की शायरी

प्यार के मोड़ पर हो जाते हैं अक्सर एक्सीडेंट

दिल भी न मिले तो दिल की हो जाती है एक्सीडेंट

गली – गली बदनाम हो गया मैं तेरे प्यार में

तुम  इजाजत दो कर दूंगा दिल बेकरार में

गम को तू भी दूर करता चला जा

वे मोहब्बत को तू भी दिल में बसाता चला जा

जब गमे इश्क़ सताता है तो क्या से क्या हो जाता है

जब दिल पर चोट लगती है तो चेहरे भी उदास हो जाता है

न तूफां से खेलो  साहिल से खेलो

खेलो तो खुद से खेलो अपनी मुहब्बत से खेलो

साजन तेरी याद मुझको बहुत ही आती है

रात – दिन मुझको सपनों में ही सताती है

तेरी आंखों में शराब ही तो है

ये दिल की बरसात हो तो है

अभी दिल जवां है  क्या तुम भी जवान हो

अभी मैं नादान हूं क्या तुम भी नादान हो

सब कहते हैं मुझको दिल का राजा

राजा हूं नहीं पर बजा दूंगा मैं सबका बाजा

चल हट तुझे सूझती नहीं है

मैं कितनी सुन्दर हूं मुझे जंचती नहीं है

फट जाएगा कलेजा बस तुम्हारे ही नाम से

याद आएगा मुझे बस तुम्हारे ही मुलाकात से

तेरी उल्फत पे मुझको उल्फत आया

सारी दुनियां को तुम पे एतवार आया

मोहब्बत में जो मरते हैं , वो नाम करते ही जाते हैं

तुम्हारे याद अपने साथ ही ले के जाते हैं

अभी  मैं जवां हूं मुझसे करो प्यार

दिल की दुनियां मैं बैठकर तुम मुझसे कहो इजहार

इंसान एक बार ठोकर खाने से सुधरता है

चाहे कितने भी विपत्ति हो उसका सामना करता है

तेरी यादों का दिन – रात  लिए फिरता हूं

मैं अपना गम अपने से लिए फिरता हूं

चेहरे से ये पर्दा हटा सकता नहीं

दिल की बेताबी सुना सकता नहीं

अपने गम को मैं कभी सह सकता नहीं

तेरी आंखों में शराब ही  तो है

ये दिल की बेकरारी ही तो है

वे होंठों का जाम टकरा ही जाएगा

दिल की बातों को यह बतला ही जाएगा

शमां जल ही जाएगे परवाने आ ही जाएंगे

देखना सनम हम क्या  से क्या हो ही जाएंगे

डर लग रहा है , मुझको आपसे , क्योकि आप है बहुत उदास

दूर कर दूंगा गम आपका , जरा आ जाइये आज मेरे पास

जो सच्चा प्यार है वह कभी नहीं मरता

मोहब्बत करने वाले इस जहां से कभी नहीं डरता

खुद को भी अपनों पे मिला डाला हूं

अपनी मौत अपनों से निकाल डाला हूं

दिल बेताब हो रही है सिर्फ तुम्हारे ही वास्ते

दिल घायल भी होगा सिर्फ तुम्हारे ही वास्ते

हम आप कयामत से गुजर क्यों नहीं जाते

जीने की शिकायत है , तो मर क्यों नहीं जाते

वो बेवफाई है अब भी ये दिल मानता नहीं

कमबख्त ना समझ है उन्हें जानता नहीं

यूं तो मतलब हमारा सीधा – सादा है

पर बताए तो कैसे बताए क्या इरादा है

सिर्फ चाहा ही नहीं तुमको पाना चाहता हूं

दुख दर्द जिन्दगी का बांटना चाहता हूं

कई ऐसे भी मजंनू है जो आहें भरते रहते हैं

कोई चाहे या न चाहें आप यूं ही मरते रहते हैं

तुम बुलाते हो तो मना नहीं होता

चाहते हैं मिलन पर सामना नहीं होता

आते हैं जब याद बेईमान तेरे वायदे

सोये – सोये लगते थे दिल में इरादे

प्यार की डगर पर चलाया क्यों न था

मीठी – मीठी बातों से फंसाया क्यों न था

चूमा तो हवाओ में और मुझ पर गिड बैठे

मैंने तो तुम्हें चाहा मुझसे ही अकड़ बैठे

Summary
Shayari | ( हिंदी शायरी 2021 ) Love Hindi Shayari 12,700
Article Name
Shayari | ( हिंदी शायरी 2021 ) Love Hindi Shayari 12,700
Description
लुट गई सारी दुनिया आँखो के सामने वो भी खामोश थी और में भी खामोस था - डाउनलोड करे Lover Romantic Sad Urdu Shayari Images Pics Wallpaper Pictures Photo In HD .
Author
Publisher Name
Jyoti Singh
Publisher Logo